Tuesday, 7 January 2014

समय का फेर

न जाने यह ज़िन्दगी की राह कब कहाँ ले जाये गी
आज गम है तो कल इस जीवन में खुशी भी आये गी 
इस ज़िन्दगी में सुख और दुख तो सब समय का फेर है
न हो उदास रात के बाद सुबह भी जरूर आये गी 

रेखा जोशी