Wednesday, 25 June 2014

ताँका

ताँका

निश्छल प्यार
मिला स्नेह आपार
करे दुलार
मानवता पुकारे
बने  हम सहारे
………………

मन के सच्चे
करें सबसे प्यार
होते है बच्चे
झगड़ा भी करते
खेलते मिल कर

रेखा जोशी