Friday, 3 October 2014

आओ जलायें अंतस का रावण

सभी मित्रों को विजयादशमी के पर्व की हार्दिक शुभकामनायें
क्यों जलाते हर साल यहाँ रावण
पूर्ण ज्ञानी शिव भक्त था  रावण
है  खुशिया  मनाते उसे जला कर 
आओ  जलायें  अंतस  का रावण
रेखा जोशी