Monday, 26 October 2015

शरद पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनायें

शरद पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनायें

हूँ धरती पर मै
चाँद शरद का आसमाँ पर
लेती अंगड़ाईयाँ
दूधिया चांदनी यहाँ पर
अमृत रस बरसा रही
शीतल चाँदनी गगन से
ठंडी हवा के झोंकों से
सिहर रहा
तन मन यहाँ पर
खिल उठी रात की रानी
महकने लगा आज
मेरा अँगना यहाँ पर

रेखा जोशी