Saturday, 19 March 2016

फाग की आई बहारें गुल खिलेगा

फाग की आई बहारें गुल खिलेगा
इन नज़ारों से  हमारा घर सजेगा 
...... 
देख लो  साजन हमारी यह अदायें 
मुस्कुराता आज मौसम फिर कहेगा 
.... 
आज बगिया के नज़ारे खूबसूरत 
प्यार की बरसे फुहारें दिल  मिलेगा 
 .....
मिल गया है साथ तेरा आज हमको 
छोड़ मत जाना जिया फिर यह जलेगा 
...... 
अब रहेंगे पास हम तुम इस जहाँ में 
पा लिया है प्यार जीवन भर  रहेगा 

रेखा जोशी