Saturday, 26 March 2016

है देवकीनंदन यशोदा का लाला

है  देवकीनंदन यशोदा का लाला
लिया उठा गोवर्धन हे मुरलीवाला
..
अखियाँ मेरी तेरे दर्शन की प्यासी
रहूँ  मै सदा  तेरे चरणन  की दासी
..
हरे भज गोविंदम भजे हर गोपाला
इन अधरों के स्वर ने  नया रँग  डाला
...
गोपियों सँग  रास रचाता  मोहन प्यारा
है कान्हा  गोकुल की आँखों का तारा
....
राधा  दीवानी  तेरी  श्याम सँवारे 
सुध बुध खोये हम तेरे हुये बाँवरे
....
मोहिनी सूरत अपनी अब तो दिखाओ
बंसी की मधुर धुन तुम फिर से सुनाओ

मनुज दर्शन