Tuesday, 19 July 2016

जन जन में देखूँ रूप मै तुम्हारा

महिमा प्रभु की सदा मै गाती  रहूँ
शीश  अपना सदा मै  नवाती  रहूँ
जन जन  में  देखूँ  रूप मै  तुम्हारा
ख़ुशी  उनके  जीवन  में  लाती रहूँ

रेखा जोशी