Thursday, 29 September 2016

उड़ गई नींद आज नैनो से मेरे साजन

भागती जाये  ज़िन्दगी रूकती नही है 
हूँ  मै  तुमसे  दूर कहीं और तू कहीं है 
उड़ गई नींद आज नैनो से मेरे साजन 
आ  चाँदनी भी मेरी तरह जाग रही है

रेखा जोशी