Thursday, 20 October 2016

कैसे कहें तुमसे हम अपने दिल के जज़्बात

है   कोई  नहीं   यहाँ  हमारा   इस  ज़माने  में 
है   करने  लगे  प्यार हम  तुमसे  अनजाने  में 
कैसे  कहें  तुमसे  हम  अपने  दिल के जज़्बात 
बस इक झिझक है यही हाल-ए-दिल सुनाने में

रेखा जोशी