Saturday, 22 October 2016

हर घड़ी खुशियाँ मनाना सीख लो

2122  2122  212

ज़िन्दगी में मुस्कुराना सीख लो
गिर गये उनको उठाना सीख लो

.....
दर्द से यह जिन्दगी माना भरी 
प्रेम का दीपक जलाना सीख लो
...
जी लिये गम से भरी यह ज़िन्दगी 
गीत अब तुम गुनगुनाना सीख लो
...
अब किसी की ज़िन्दगी महका यहाँ 
फूल गुलशन में खिलाना सीख लो 
.... 
हो चुकी  यह  ज़िन्दगी बर्बाद  अब 
हर घड़ी खुशियाँ मनाना सीख लो 

रेखा जोशी