Wednesday, 6 December 2017

तुम मिले जो है हमारी खूबसूरत ज़िन्दगी

पास  रहना  तुम   सदा   तेरा  सहारा  चाहिए
खूबसूरत    जीवन  का  हमें    नज़ारा चाहिए
,
प्यार में सबने पिया है जाम उल्फत का सजन
डूबना  इश्क  में   नहीं    हमें  किनारा  चाहिए
,
खूबसूरत  ये  नज़ारे  अब  बुला  हमको   रहें
आज  हाथों  में  हमारे  हाथ  अपना  दीजिए
,
चाहतों  ने अब हमारी  इस कदर  मारा  हमें
ढूंढ कर तुम उन पलों को फिर दोबारा दीजिए
,
तुम  मिले  जो  है  हमारी  खूबसूरत  ज़िन्दगी
भूल कर दर्द  ओ ग़म जीवन  सँवारा कीजिये

रेखा जोशी