Thursday, 22 February 2018

हाथ जोड़ हम सबको करते सादर प्रणाम


गीतिका

सिखाता सभी का करना ये आदर प्रणाम
हाथ जोड़ हम सबको करते सादर प्रणाम
,
प्रेम सत्य  प्रेम  ही शिव  सबसे सुंदर  प्रेम
प्रेम से  सबको शीश नवा के सादर प्रणाम
,
शीतल करे मन सदा प्रणाम क्रोध मिटा कर
क्रोध तज के झुकना सिखा दे सादर प्रणाम
,
प्रणाम  करने  से  मिलते अनमोल परिणाम
अहंकार  को  मिटा  हम  करें सादर प्रणाम
,
प्रणाम  हमारी  संस्कृति  प्रणाम  है सभ्यता
एक बार सबको करें फिर से  सादर प्रणाम

रेखा जोशी