Monday, 2 October 2017

छंद राधेश्यामी

आधार छंद -  पदपादाकुलक द्विगुणित (राधेश्यामी  )

16 यति 16 =32 मात्रा

कह रही समय की यह धारा,नाम जिंदगी का है चलना
खुशियाँ हज़ार पायें हम सब ,फूलों के समान है खिलना
दुख दर्द सभी के बाँटें हम,सबको समान अधिकार मिले
सपने साकार सभी के हों, मन-भावन,पावन,प्यार मिले

रेखा जोशी

No comments:

Post a Comment