Friday, 10 January 2020

मुक्तक

मुक्तक 
मापनी - 212 212 212 212

लाख हों मुश्किलें मान मत हार तुम 
जिंदगी  में  करो  प्यार स्वीकार तुम 
थामना  हाथ  उनका  सदा  जो गिरें 
जिंदगी  में  सभी  से  करो प्यार तुम

रेखा जोशी 

2 comments: