Tuesday, 28 January 2020

मधुरस बिखेरता आया मधुमास


आया ऋतुराज
मौसम बहारों का
हौले हौले बह रही
संगीतमय लहर
दे रही हिलोरे
मदमस्त बसंती पवन
झूम रहे धरा पर
पीले पीले फूल.
.
मन में उमंग लिये
उपवन में
मुस्कुराते हुए
गुनगुना रहे भँवरे
लहराते धरा पर
खिलखिला रहे
पीले पीले फूल
.
मौसम ने ली अंगड़ाई
छाया चहुँ ओर
बसंती रंग
कुहक रही कोयलिया
अंबुआ की डाल पे
खेतों खलिहानों में
नाच उठी सरसों
इतरा रहे धरा पर
पीले पीले फूल
.
मधुरस बिखेरता
आया मधुमास
लहराये चुनरिया
पिया मिलन की आस
गोरी के आँचल तले
शरमा रहे
पीले पीले फूल
.
रेखा जोशी

No comments:

Post a Comment