Wednesday, 21 January 2015

न छोड़ना साथ तुम

है विश्वास
इतना तुम पर मुझे
हूँ जानती
तुम साथ हो मेरे
कर दी हवाले तेरे
जीवन की नैया
ऊँची  नीची लहरों में
डोल रही नैया
दे दी हमने
पतवार हाथ में तेरे
कभी भी
न छोड़ना साथ तुम
रहना सदा पास तुम
प्रभु है तेरी  आस
लगा दोगे तुम
नैया मेरी पार

रेखा जोशी 

No comments:

Post a comment