Wednesday, 25 March 2020

ये जो है जिंदगी

वक्त कब गुज़र जाता है

 पता ही नहीं चलता, कैसे बंधी है

 हमारी ज़िन्दगी

 घड़ी की टिक टिक के साथ 

सुबह से शाम , रात से दिन

बस घड़ी की टिक टिक के संग

हम सब चलते जा रहे हैं 

समय को तो आगे ही 

चलते जाना है, 

जिंदगी का हर पल अनमोल है 

क्यों न इसे ज़िंदादिली  से जिया जाये

No comments:

Post a comment