Sunday, 28 March 2021

होली की हार्दिक शुभकामनाएं

उपवन सजा हुआ है अब फूल मुस्कुराएं 

हम  आज  गीत  गाएँ  होली मिल मनाएं

.. 

छाई  बहार मौसम भी है खिला खिला सा

है  रंग छलकते भूलें शिकवे गले लगाएं 

.. 

नीले. हरे   सभी  सुन्दर चेहरे   रंगे  हैं

होली सखी खेलों पिचकारी पिया चलाएँ 

.. 

नाचे सभी मचायें हुड़दंग बहार आई 

भीगा पिया बदन औ मदमस्त हैं हवायें 

रेखा जोशी 



 


3 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    रंगों के महापर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  2. खूबसूरत लिखा ... एक शेर और होता तो ग़ज़ल हो जाती .

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete