Monday, 29 October 2018

कभी तो मुस्कुराओ  तुम

1222 1222

कभी तो गुनगुनाओ तुम
कभी तो मुस्कुराओ  तुम
.
रहो गुमसुम न तुम हरदम
पिया अब गीत गाओ तुम
.
नहीं  अब  ज़िंदगी   तन्हा
हमारे  पास  आओ   तुम
.
खिली उपवन कली साजन
उसे  अपना  बनाओ   तुम
.
हमारी    ज़िंदगी    तुमसे
इसे प्रियतम सजाओ तुम

रेखा जोशी

Friday, 26 October 2018

करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं


करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं

सजधज कर सजना आज सोलह सिंगार करूँ
माथे सजा बिंदिया चाँद का दीदार करूँ
.
तुमसे ही  है प्रियतम रंग जीवन में मेरे
प्रार्थना प्रभु से तेरे लिए बार बार करूँ
.
खुशनसीब हूँ जिंदगी में तुम आए मेरे
सपने अपने पिया तुमसे ही साकार करूँ
.
जन्म जन्‍म में साथी रहों तुम साजन मेरे
हर जन्‍म में पिया तुमसे ही सदा प्यार करूँ
.
खुशियाँ सदा मिलती ही रहें जीवन में तुम्हें
वारी जाऊँ जीवन यह तुम पर निसार करूँ

रेखा जोशी

Wednesday, 24 October 2018

खुशियाँ लेकर आई दिवाली


फुलझड़ी  से निकले अंगारे
हवा में  ज्यों नाचते  सितारे
खुशियाँ लेकर आई दिवाली
खिले बच्चों  के चेहरे  प्यारे

रेखा जोशी

Tuesday, 23 October 2018

शरद  के चाँद  से  बरसे

शरद  के चाँद  से  बरसे
अमृत सी रस की किरणें
बिखरी चाँदनी  धरा पर
तन मन को शीतल  करे