Wednesday, 2 September 2015

चल माझी नदिया के उस पार लेकर

हृदय   में  समाया    नेह  अपार   लेकर
राह    निहारे    नैनो   में   प्यार   लेकर
मिलन की आस लिये दूर खड़ा  प्रियतम
चल  माझी  नदिया  के  उस  पार लेकर

रेखा जोशी 

No comments:

Post a comment