Sunday, 6 December 2015

हाइकु [सर्दी पर ]

सर्द  हवायें 
ठिठुरता बदन 
होंठ कांपते 
........ 
जला अलाव 
बीच सड़क पर 
सेंकते हाथ 
...... 
गिरती बर्फ 
पहाड़ो की चोटियाँ 
ऊँचे पर्वत 

रेखा जोशी