Sunday, 6 December 2015

अपनी प्रतिभा से सबको मिलती पहचान


है देखा  देखी  से   कब   बनती   पहचान 
देख  अपने गुणों  को कर अपनी पहचान 
है जो  क्षमता  तुम मे  किसी और में नही
अपनी प्रतिभा से सबको मिलती पहचान

रेखा जोशी