Sunday, 19 January 2014

न शिकवा न शिकायत

कर लो चाहे तुम जितने भी सितम
सब सह लेंगे उसे ज़िंदगी भर  हम 
न करेंगे शिकवा न कभी शिकायत 
तकदीर  से  ही  बाज़ी  हारे  है  हम 

रेखा जोशी