Friday, 27 April 2018

न है ज़िन्दगी में बहारें पिया

न  है ज़िन्दगी   में बहारें पिया
यहाँ  बीच में  है   दिवारें पिया
न  कोई गिला है किसी से हमें
किसे ज़िन्दगी में पुकारें  पिया

रेखा जोशी