Thursday, 13 June 2013

भागो भागो बिल्ली है [बाल कविता ]

बिल्ली आई चूहें भागे
भागे चूहे बिल्ली आई
बिल्ली पीछे चूहे आगे
भागो भागो बिल्ली है
मिल के  बैठे सारे चूहे
अब  बचना बिल्ली से
हुआ यह बहुत कठिन
क्या करें यह सोच रहे
फैसला अभी यह करें
बांधे बिल्लीके गले में
घंटी जो टन टन बोले
सुन  आवाज़ बिलों में
छुप जाएँ गे वहअपने
अब ये घंटी कौन बांधे
विचार सभी  यह करें
सोच विचार में वे डूबे
तभी भगदड़ मेंवो चूहे
यहाँ वहां लगे भागने
शोर मच गया वहां पे
भागो भागो बिल्ली है

रेखा  जोशी