Friday, 11 July 2014

साथ तुम्हारा मिले हमको तो जन्नत ठोकर में

ज़िंदगी तुमसे बहुत गम पायें है अब प्यार करें 
भूल कर सब गम वफ़ा का जानम अब इकरार करें 
साथ तुम्हारा मिले हमको तो जन्नत ठोकर में 
पास हो गर तुम सजन हरदम तेरा दीदार करें
रेखा जोशी