Tuesday, 29 July 2014

जो अवतरित हुआ इस धरती पर

है सुरक्षा कवच
ज़िंदगी का
साया सिर पर
जो है
माँ बाप का
हूँ निर्भय मै
जो है आपार स्नेह
मुझ पर
माँ बाप का
मिलता  बल मुझे
जब हाथों ने उनके
है थामा मेरा हाथ
शत  शत नमन
उस  ईश्वर का
जो अवतरित हुआ
इस धरती पर
दिखाया जिसने
अपना रूप
बन कर मेरे
माँ बाप

रेखा जोशी