Thursday, 6 April 2017

नैन के दीप जलते रहे


बाग  में  फूल  खिलते रहे
नैन   के  दीप  जलते  रहे
पर यहाँ तुम न आये पिया
रात  भर ख्वाब सजते रहे

रेखा जोशी