Sunday, 10 September 2017

आज तेरी याद हमें फिर आईं है

आज तेरी याद हमें फिर आईं है
सपनों में महफ़िल हमने सजाई है
,
दिल ओ जान से हमने चाहा उनको
मिली हमें तो उनसे रुसवाई है
,
हमने सदा साथ तेरा है निभाया
न करना कभी हमसे बेवफ़ाई है
,
तड़पना है हमें तो प्यार में तेरे
मिली प्यार में हमको तो तन्हाई है
,
आदत है तेरी हमें तड़पाने की
दे दी हमको उम्र भर की जुदाई है

रेखा जोशी