Wednesday, 2 October 2013

मन में विश्वास

चाहतों को कर सकते हो पूरी तुम 
भर के विश्वास बस अपने मन में तुम 
नमुमकिन को भी कर सकते हो मुमकिन 
हौंसलों में तुम्हारे हो इतना दम 

रेखा जोशी