Wednesday, 18 June 2014

मेरे प्यारे नन्हे नन्हे बच्चे

हुआ आगमन 
मधुमास का 
मेरे आंगन 
आये ऋतुराज बसंत 
झूम रही डाल डाल
बह रही 
मस्त पवन हर्षित मन 
देख छटा पीताम्बरी
झूल रहे  
रंग बिरंगे सुन्दर फूल 
खेल रहे बगिया में 
मेरे 
नन्हे मुन्ने फूल से बच्चे 
भाग रहे पकड़ने तितली 
संग फूलों के 
मुस्कुराते महका रहे 
मेरा अंगना 
चम्पा चमेली 
गुलाब से  
मेरे प्यारे नन्हे नन्हे 
बच्चे 


रेखा जोशी