Tuesday, 23 July 2013

मुक्तक

कभी रूकती नही बस चलती ही जाती है जिंदगी
घूमे सदा वक्त का पहिया चाहे बेबस हो जिंदगी
तलाश  सबको यहाँ बस खुशियों ही खुशियों की
सुख  हो याँ दुःख सब पीछे छोड़ जाती है जिंदगी

रेखा जोशी