Wednesday, 11 May 2016

ऐ हवाओं साथ देना मेरा तुम

भर मुट्ठी मेघ मै ले जाऊँ वहाँ
प्यासी धरा की प्यास बुझाऊँ वहाँ
ऐ हवाओं साथ देना मेरा तुम
उड़ा घन संग मेह  बरसाऊँ वहाँ

रेखा जोशी