Friday, 20 May 2016

नहीं है चाह दौलत की हमे अब

सजन हम प्यार में तुम को पुकारे  
हमें  अब  ज़िंदगी  तुम  दो  सहारे 
नहीं  है  चाह  दौलत  की हमे अब  
कभी  तो  पास  तुम  आओ हमारे 


रेखा जोशी