Wednesday, 8 June 2016

गगन से उतर आये चाँद तारे भी धरा पर

 ढूँढ़ते  हुये  हम   आपको  महफ़िल  तक  आ गये
छोड़   दामन  लहरों  का  हम साहिल तक आ गये
गगन    से  उतर    आये  चाँद  तारे  भी   धरा  पर
लिये दिल में प्यार अपने हम मंज़िल तक आ गये

रेखा जोशी