Friday, 3 March 2017

लाख समझाया न माना दिल हमारा यह


प्यार तुमको जिंदगी करना न आया है
जी रहे हम ज़िन्दगी पर कुछ न भाया है
लाख समझाया न माना दिल हमारा  यह
ता उमर इस ज़िन्दगी ने बस सताया है

रेखा जोशी