Monday, 20 March 2017

छंद - पदपादाकुलक
16,16 मात्रा के 4 चरण । आदि में 2 तथा अंत में 22

माता तुमसे संसार  मेरा
दाती ले लो प्रणाम  मेरा
शीश झुकायें दर पर तेरे
झोली भरती दर  पर तेरे
,
चाँद निकला अंगना मेरे
आये  जो  सांवरिया मेरे
शीतल पवन मिले हिचकोले
पीहू आज  पपीहा बोले

रेखा जोशी