Friday, 17 March 2017

जो पाया तुमको पाई सारी दुनिया

22. 22. 22. 22. 22. 2

सपने तेरे सोई आँखें मेरी हैं
यादें  तेरी रोई  आँखें मेरी हैं
जो पाया तुमको पाई सारी दुनिया
चाहत तेरी खोई ऑंखें मेरी है

रेखा जोशी