Thursday, 8 February 2018

आया बसंत मनभावन

चोका

[57575757577=67वर्ण ]

बहार छाई
मदमस्त पवन 
खुशियाँ लाई
आंगन महकता t
गुंजित भौरा 
अंगना मेरे आलि 
नाचे छबीली
अब आया बसंत
मनभावन
बगिया गुलज़ार 
छलकता खुमार 

रेखा जोशी