Wednesday, 17 September 2014

यही तो है ज़िंदगी [हाइकु ]

सत्कार करें
ज़िंदगी में खुशियाँ
प्यार  से रहें
……………
हर्षित मन
है देख  फुलवारी
सुन्दर फूल
……………
उदास मन
मिलती नही ख़ुशी
रहा तलाश
……………
जीवन भर
कहाँ पे भगवन
रहा ढूँढ
………………
हार याँ जीत
यही तो है ज़िंदगी
अपना कर्म

रेखा जोशी