Thursday, 28 January 2016

ख्वाहिशे तो हमारी है बहुत सी

बहुत मिला जीवन में फिर भी कम  है
नही    हमे   इसका   भी   कोई  गम है
ख्वाहिशे   तो   हमारी    है   बहुत   सी
इनकों   को   पूरा    करने  का    दम है

रेखा जोशी