Friday, 8 January 2016

अपने बड़े बुज़ुर्गों का हम सदा करें सम्मान

बसते अपने बच्चों में सदा माँ बाप के प्राण
उनकी  सेवा  करने से  मिल जाते  भगवान
....
लाये  इस दुनियाँ  में दिया अपना हमें नाम
कभी भूल से उनका  मत हो हमसे अपमान
...
माता पिता की  बनी रहे  सदा  हम पर छाँव
रूप  में  उनके  ईश  से  मिला   हमें  वरदान
....
जीवन के हर मोड़ पर है  मिला उनका  साथ
चलना  सीखा  ऊँगली  पकड़ सदा  करें मान
 .....
हाथ  जोड़  अपने  कहूँ  छोटा  मुहँ बड़ी  बात
अपने बड़े  बुज़ुर्गों  का हम सदा करें सम्मान

रेखा जोशी