Saturday, 9 July 2016

ओढ़ देखते जब हम मुखौटे चेहरे पर अपने

कौन  कहता है  आईना सदा सच बोलता है
जो  देखना चाहते   है उसमें वही  दिखता है
ओढ़ देखते जब  हम मुखौटे चेहरे पर अपने
देख आईने में आत्मा  का भी सर झुकता है

रेखा जोशी