Sunday, 9 February 2014

सात फेरे और सात वचन याद है मुझे

सात फेरे 
और 
सात वचन 
याद है मुझे 
आदर करती हूँ मै तुम्हारा 
और 
सबका यहाँ क्योंकि 
मै तुम्हारी हूँ 
और 
तुम्हारे अपने
है अब मेरे
और
मेरे अपने
वह भी तो है तुम्हारे
मै कभी भी 

नही सह पाऊँगी
निरादर उनका
इल्तिजा है मेरी तुमसे
रखना मान
सदा उनका

रेखा जोशी