Friday, 23 January 2015

सभी मित्रों को बसन्त पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ


सूरज की तरह पीली पीली सरसों चमकने लगी
मुस्कुराती सब ओर खुशियां देखो चहकने लगी
रंग  बिरंगे  फूलों  से अब  धरा  पर  आई  बहार
बसंत के आगमन से बगिया मेरी महकने लगी

रेखा जोशी