Tuesday, 6 January 2015

बहा के खून अपना सींचा यह चमन हमने


चाहा  तुम्हे जान से ज्यादा ऐ वतन हमने
किये  पाक के  नापाक  इरादे  दमन हमने
आँखे नम अपनी  देख बलिदान शहीदों का
बहा के खून अपना सींचा यह चमन हमने

रेखा जोशी