Friday, 2 January 2015

बदली में मयंक [हाइकु ]


निकला चाँद 
लहराती चांदनी
तुम्हारा साथ 
……………
आंखें चुराता 
बदली में मयंक 
शरमाया सा
...............
रात सुहानी
बिखरती चाँदनी
धरा  चांदी सी 
................ 
रेखा जोशी