Tuesday, 5 April 2016

तुम क्या गये ज़िंदगी के सहारे खो गये


तेरे  जाने  बाद  चाँद  सितारे  खो  गये
कुदरत  के  सारे हसीन  नज़ारे खो गये
अँधेरी अनजानी  राह  में भटक रहे हम
तुम क्या गये ज़िंदगी के सहारे खो गये

 रेखा जोशी