Saturday, 14 September 2013

दोस्त

एक मुक्तक दोस्तों के नाम 

महक  दोस्ती की  किसी इश्क से कम नहीं होती
इश्क करने वालो को किसी की परवाह नही होती 
दोस्ती हो अगर तो कृष्ण और सुदामा जैसी  हो 
ऐसी  दोस्ती में प्यार की कोई कीमत नही होती 

रेखा जोशी