Monday, 16 September 2013

उड़ने वाले पंछी

गीत

नभ पर उड़ने वाले पंछी
गीत मधुर सा गा रहे तुम
……………………
 झूमती हवाओं के संग
यहाँ वहाँ  इठला के तुम
रूप सुंदर सजा कर तुम
आज किसे  लुभा रहे हो
……………………
मीठे   मीठे   बोल  तेरे
रस घोले कानो  में मेरे
मीठी बोली सुन कर अब 
चहकने लगा  मेरा मन
……………………
नभ पर उड़ने वाले पंछी
गीत मधुर सा गा रहे तुम

रेखा जोशी